Sustain Humanity


Saturday, January 16, 2016

सुकमा के कुन्ना और पेदमारा में फिर पुलिस ने किया महिलाओ का उत्पीडन #Vaw


सुकमा के कुन्ना और पेदमारा में फिर पुलिस ने किया महिलाओ का उत्पीडन #Vaw


SAVE_20160116_072504सुकमा के कुन्ना और पेद्धापारा में  फ़ोर्स ने फिर किया आदिवासी महिलाओ के साथ
शारीरिक प्रताड़ना, आप  कार्यकर्ता सोनी सोरी  ने की पहल कमिश्नर ने दिए जाँच
के आदेश.


बीजापुर जिला के  पेदागेल्लुर क्षेत्र में 40 महिलाओ के साथ यौन हिंसा एवम
उत्पीड़न की  जाँच की कार्यवाही प्रारम्भ भी नही हुई है और अब सुरक्षा बलों ने
ऐसी ही हरकत अब सुकमा जिला के कुन्ना एवम् पेद्धा पारा में कर दी . इस बार
उत्पीङन की शिकार सुकमा जिला के छिंदगढ़ ब्लाक के  कुन्ना एवम् पेद्धा पारा की
6 बालिकाएं एवम् महिलायें हुई है
यह घटना 11 एवम् 12 जनवरी की है , इन महिलाओ के नाजुक अंगो के साथ न केवल
हिंसक और अपमानजनक हमला किया  गया बल्कि इन्हें बुरी तरह से मारा पीटा भी गया
है , नक्सलियों की खोजखबर के नाम पर 6 महिलाओं और 29 पुरुषो को फोर्स पकड़ कर
ले गई ,3 पुरुष अभी भी पुलिस हिरासत में है

आप नेता और सामाजिक कार्यकर्ता  सोनी सोरी अपने साथियों के साथ कमिशनर से मिले
और फ़ोर्स के अत्याचार की न्यायिक जाँच की मांग की एवं जिम्मेदार फ़ोर्स
कर्मियों की गिरफ्तारी की भी मांग की साथ ही मुख्यमंत्री से मिलके पुरी शिकायत
करने को कहा.
कमिश्नर ने पुलिस आईजी ,कलेक्टर और एस पी सुकमा से शिकायत की जाँच और उसपे
तुरंत कार्यवाही करने को लिखा .
पुरी घटना को आवेदन पत्र में लिखा गया है
1 हड़मे पति देवा करतम को पुलिस के लोगो ने निवस्त्र किया ,कमर का धागा तोडा
उपर का कपड़ा निकाल के उसे नंगा कर दिया और कई पुलिस के लोग उसपे बैठ गये ,बहुत
बहुत गंदे गंदे शब्दों से उन्हें अपमानित किया.
2  करतमी पति भुइयां  के साथ बुरी तरह मारपीट की गई ,सीधे हाथ में चोट आई
दायें जांघ में सुजन है और पिछली पीठ में  भी सुजन है
3  हड़पी पोयामी पति लखमा का ब्लाउज फाड़ दिया गया और उसे उठक बैठक लगवाई गई,
उससे पुछा बच्चा पैदा क्यों नही किया  और बोले की हमारे साथ सो जाओ तो बच्चा
पैदा हो जायेगा .जब वो रोने लगी तो उसे  कांटे वाले झाड से बुरी तरह मारा पीटा
गया.
4 करतामी कोसी पिता बुधवा को पुलिस के लोगो ने निवस्त्र किया और उसके स्तन देख
देख के बहुत मजाक उड़ाया. और उसे मारा पीटा भी गया.
5    पोदियामी जोगी पति गंगा को घर से घसीटते हुए घर से बहार निकाला उसके
चेहरे और बदन पे बहुत चोट लगी उसके पति और बच्चे को पकड़ के गादिरास केम्प ले
गये . जब उनसे कहा की उन्हें मत ले जाओ बच्चा छोटा है तो उससे कहा की स्तन से
दूध निकाल के दिखाओ  और तो और पुलिस के एक सिपाही ने खुद आगे बढ के पोदियामी
के स्तन से दूध निचोड़ के। देखा.
इन्ही लोगो ने उसकी माला ,कान के बाले और 1500 रूपये छीन लिये.
इनके अलावा भी कई महिलाओ के साथ मारपीट और अपमानजनक व्यवहार किया .घरों से
मुर्गा चावल नगदी जेवर भी लुट के ले गये.
इन लोगो ने एक ग्रनेड़ भी फेंका  जिससे। आग लग गई.पहले जिन लोगो को पकड़ा था
उनमे से तीन लोगो को  छोड़ दिया उन्हें बहुत चोट भी आई है
यह कहा गया की हमारे गाँव में मुठभेड़ के दोरान कोई सिपाही घायल हो गया था ,जब
की हमारे गाँव में कोई किसी के साथ कोई मुठभेड़ ही नही हुई है.
एक पुलिस वाला एक घर में घुस गया था तो उसका पैर किसी बोरी से टकरा गया और
उसकी गोली चल गई उससे वो जख्मी हो गया था ,गाँव के सब लोगो को इस घटना का पता
भी है.
जो फ़ोर्स के लोग आये उनमे तीन लोगो को हम पहचानते भी है वो है 1 बदरू 2 किरण 3
कमलेश  इसके अलावा को भी मिलने पे पहचान  सकते है.

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!