Sustain Humanity


Tuesday, April 5, 2016

प्रभाकर ग्वाल एक जज थे . वे दलित हैं . प्रभाकर ग्वाल हद दर्जे के ईमानदार इंसान हैं . प्रभाकर ग्वाल आज भी साईकिल से कोर्ट जाते हैं . कल ही उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है .


प्रभाकर ग्वाल एक जज थे .
वे दलित हैं .
प्रभाकर ग्वाल हद दर्जे के ईमानदार इंसान हैं .
प्रभाकर ग्वाल आज भी साईकिल से कोर्ट जाते हैं .
कल ही उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है .
उनकी गलतियां क्या थीं .
छत्तीसगढ़ के भाजपा के भ्रष्ट मंत्री अमर अग्रवाल नें जमीन का घोटाला किया
मंत्री नें पटवारी तहसीलदार और पुलिस वालों के साथ मिल कर आदिवासियों की ज़मीन हडप ली
जज प्रभाकर ग्वाल नें आदिवासियों की शिकायत पर मंत्री ,तहसीलदार और पुलिस वालों के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज़ कर दिया
जज प्रभाकर ग्वाल को वहाँ से हटा दिया गया
जज प्रभाकर ग्वाल रायपुर आ गए
तबादले से भी जज प्रभाकर ग्वाल का ईमानदारी का जोश कम नहीं हुआ
तभी रायपुर में पीएमटी का पर्चा लीक हो गया
जज प्रभाकर ग्वाल नें एसपी दीपांशु काबरा और भाजपा के विधायक को नोटिस जारी कर दिया
जज साहब को धमकी दी गयी कि तुम्हें इसकी सज़ा मिलेगी
जज प्रभाकर ग्वाल का तबादला बस्तर के सुकमा ज़िले में कर दिया गया
जज प्रभाकर ग्वाल नें वहाँ भ्रष्ट सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज कर लिया
कलेक्टर नें जज प्रभाकर ग्वाल को फोन कर के कहा कि आप मुकदमा करने से पहले मुझ से पूछा करिये
जज प्रभाकर ग्वाल नें कलेक्टर की फोन रिकार्डिंग सार्वजानिक कर दी
जज प्रभाकर ग्वाल से पूरा भ्रष्ट तंत्र कांपने लगा
भ्रष्ट तंत्र नें गिरोहबंदी करी
हाई कोर्ट नें जज प्रभाकर ग्वाल को कल एक पत्र भेज दिया
जिसमें लिखा है कि जनहित में आपको बर्खास्त किया जाता है
जाओ प्रभाकर ग्वाल घर जाओ
ईमानदारी अब एक अपराध है
वो भी उस राज्य में जहाँ का मुख्यमंत्री तक भयानक भ्रष्टाचार में डूबा हुआ है
छत्तीसगढ़ का शासन तंत्र भारतीय लोकतंत्र पर एक काला दाग है
छत्तीसगढ़ में सामाजिक कार्यकर्ताओं को भगाया जा रहा है
वकीलों को भगाया जा रहा है
पत्रकारों को जेल में डाला जा रहा है
अब ईमानदारी के अपराध में जजों को बर्खास्त किया जा रहा है
"जज प्रभाकर ग्वाल को न्याय दो "
"प्रभाकर ग्वाल को जज के पद पर बहाल करो"

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!