Sustain Humanity


Thursday, December 24, 2015

ऐसी बिभत्स एवम् दयनीय घटनाये दलितों पर जाति देखकर की जा रही है न कि निर्धनता को देखकर, तो फिर मोहन भागवत जी इन घटनाओं की समीक्षा क्यों नहीं करते? आर्थिक आधार पर आरक्षण की बात करने वाले इन घटनाओ का बहिस्कार क्यों नहीं करते ? दलितों से कहना है कि कब तक गहरी नींद सोते रहोगे, कभी जागना नहीं चाहते हो क्या? हमेशा हमेशा के लिए सोते रहोगे क्या ? कब आँख खुलेगी आपकी ?


ऐसी बिभत्स एवम् दयनीय घटनाये दलितों पर जाति देखकर की जा रही है न कि निर्धनता को देखकर, तो फिर मोहन भागवत जी इन घटनाओं की समीक्षा क्यों नहीं करते? आर्थिक आधार पर आरक्षण की बात करने वाले इन घटनाओ का बहिस्कार क्यों नहीं करते ? दलितों से कहना है कि कब तक गहरी नींद सोते रहोगे, कभी जागना नहीं चाहते हो क्या? हमेशा हमेशा के लिए सोते रहोगे क्या ? कब आँख खुलेगी आपकी ?


Ashok Kumar Basotra and 3 others shared a link.
नई दिल्‍ली। तरक्की की राह में खुद को सबसे आगे दिखाने की होड़ में जुटे देश में दलितों पर जुल्म के किस्से आज भी थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। मध्यप्रदेश के सागर जिले में दलितों पर अत्याचार की जो कहानी...

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!