Sustain Humanity


Monday, February 22, 2016

आज सिर्फ काले झंडे दिखाये है | कल तुम्हारा मुँह काला कर तुम्हे दंडे भी दिखा सकते है.

आज सिर्फ काले झंडे दिखाये है | कल तुम्हारा मुँह काला कर तुम्हे दंडे भी दिखा सकते है.

--------------------------------------------------------------------------------------------------------------

आज वाराणसी मे नरेन्द्र मोदी को काले झंडे दिखाकर 'देश का गद्दार कैसा हो? नरेन्द्र मोदी जैसा हो | नरेन्द्र मोदी गो बॅक | रोहित वेमुला जिंदाबाद | स्मृती ईराणी मुर्दाबाद | बंडारु दत्तात्रेय मुर्दाबाद, जैसे कई नारे लगाने वाले भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के उन सभी विद्यार्थीयों का मै सबसे पहले शुक्रिया अदा करणा चाहता हुँ |

और,

डॉ. बाबासाहब आंबेडकरजी की और डॉ. रोहित वेमूला की पोश्टर और बैनर फाडकर भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के आंदोलनकर्ता विद्यार्थीयों पर लाठीचार्ज करणेवाले हाफचड्डी की जगह फुल पैंन्ट पहनकर आये हुये उन सभी संघी पुलिसों का जाहिर धिक्कार करता हुँ |

आज वाराणसी मे संत रोहिदास की जयंती दिन के अवसर पर नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था | जिस युनिवर्सिटी मे कार्यक्रम का आयोजन किया गया था | उसमे रोहित वेमुला जैसे ही ब्राह्मणवादी व्यवस्था का शिकार हुये जिंदा रोहित वेमुला (पुखराज मीना) पर हुये अन्याय का भी हमने आज आंदोलन मे जिक्र किया | ईतनाही नही बल्कि संत रोहिदास जी के जयंती दिन पर बुट पॉलिश और चप्पल सिलाई का आदेश देणेवाले सरकार का भी असली चेहरा भारतीय विद्यार्थी मोर्चा ने लोगों के सामने उजागर किया |

वाराणसी मे आये हुये मोदी के सुरक्षा के लिए २ एडीजी, ४ आईजी, ४० मजिस्ट्रेट, १० एसपी, ३० एडिश्नल एएसपी, ५० सीओ तैनात किए गये थे | उसके साथ साथ २५ कम्पनी पीएसी, १० कम्पनी अर्धसैनिक बल, ६०० दारोगा और २५०० सिपाही चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए थें | इतनी कडी सुरक्षा होणे के बावझुद भी भारतीय विद्यार्थी मोर्चा ने नरेंद्र मोदी को काले झंडे दिखाये | ऐसा करणे के बाद भागवत सरकार ने फिर अपने बल का इस्तेमाल करते हुये विद्यार्थीयों पर लाठीचार्ज करणा शुरु किया | हमारे कुछ विद्यार्थीयों को गिरफ्तार करणे के बाद ५००० से अधिक विद्यार्थीयों ने स्वंय अपनी गिरफ्तारी कर दी है |

इतिहास मे पहली बार शासन - प्रशासन से पिडीत विद्यार्थीयों ने इतनी संख्या में अपने आपको पुलिस को सौंपा है | जब तक डॉ. रोहित वेमूला को न्याय और उनकी हत्या करणेवाले गुंडो को सजा नही मिलती तब तक हम विद्यार्थीयों का राष्ट्रिय स्तर पर जेल भरो आंदोलन करेंगे |

जिस वाराणसी मे नरेंद्र मोदी चुनाव जितकर (दिखावे के लिए ईस देश का असल मे बीजेपी का) प्रधानमंत्री बना है | उसी वाराणसी मे रोहित वेमूला के हत्या के संदर्भ मे एबीवीपी और शासन - प्रशासन के खिलाफ हमारा जो आंदोलन हुआ है | वही नरेंद्र मोदी के पतन और बर्बादी का कारण बनकर ही रहेगा |

नरेंद्र मोदी को मै भारत मुक्ति मोर्चा की तरफ से खुली चुनौती देता हुँ की, तुम्हारे जैसे ब्राह्मणों के गुलामों (गद्दारों) का विरोध करणा हमारा लक्ष्य नही है | बल्की तुम जिस फैक्ट्री मे तैयार हुये हो, उस फैक्ट्री को ही उध्दवस्त करणा हमारा लक्ष्य है | चाहे तुम और मोहन भागवत जितनी भी ताकद लगानी है लगालो | हम तुम्हे अपने राष्ट्रव्यापी संघटन की ताकद दिखाकर ही रहेंगे |

बामसेफ और बामसेफ अंतर्गत जितने भी ऑफशुट विंग है | हम सबकी ताकद लगा देंगे | लेकीन आरएसएस के गुंडों को हम सबक सिखाकर ही रहेंगे | यह हमारा वादा है.
- निरंजन लांडगे.
(भारत मुक्ति मोर्चा)
जय मूलनिवासी..


--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!