Sustain Humanity


Tuesday, May 3, 2016

अंतिम चरण में फिर भूत नाच की तैयारी पुलिस अफसरों के साथ सांसद की बैठक का आरोप लगाया सूर्यकांत ने और कहा कि वफादार अफसरान को केंद्रीय वाहिनी को निष्क्रिय करने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है मतदान के बाद हिंसा फिलहाल ट्रेलर है,बाकी फिल्म 19 मई के बाद। जादू की छड़ी की तरह दीदी के पुलिस को देख लेने की धमकी का असर भी हो रहा है पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे 1961 उम्मीदवारों में से 244 करोड़पति हैं। करोड़पति उम्मीदवारों की सूची में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस 114 उम्मीदवारों के साथ शीर्ष स्थान पर है।बाहुबल के अलावा धनबल भी कम नहीं है,फिरभी दीदी आलआउट खेल क्यों रही है,यह पहेली है। एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास हस्तक्षेप

अंतिम चरण में फिर भूत नाच की तैयारी

पुलिस अफसरों के साथ सांसद की बैठक का आरोप लगाया सूर्यकांत ने और कहा कि वफादार अफसरान को केंद्रीय वाहिनी को निष्क्रिय करने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है

मतदान के बाद हिंसा  फिलहाल ट्रेलर है,बाकी फिल्म 19 मई के बाद।

जादू की छड़ी की तरह दीदी के पुलिस को देख लेने की धमकी का असर भी हो रहा है

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे 1961 उम्मीदवारों में से 244 करोड़पति हैं। करोड़पति उम्मीदवारों की सूची में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस 114 उम्मीदवारों के साथ शीर्ष स्थान पर है।बाहुबल के अलावा धनबल भी कम नहीं है,फिरभी दीदी आलआउट खेल क्यों रही है,यह पहेली है।


एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास

हस्तक्षेप

बंगाल में वाम कांग्रेस गठबंधन के नेता सूर्यकांत मिश्र ने आज बेहद सनसनीखेज तरीके से आरोप लगाया है कि सत्ता दल के सांसद शुभेंदु अधिकारी ने पूर्व मेदिनीपुर के पुलिस अफसरान के साथ देर रात गुप्त बैढक करके अंतिम तरण में वोट लूचने का प्लान बनाया है और केंद्रीय वाहिनी को निष्क्रिय करने की जिम्मेदारी वफादार पुलिस अफसरान को सौंपी गयी है।इस सिलसिले में चुनाव आयोग को गठबंधन की ओर से बैठक के पूरे ब्योरे के साथ शिकायत की गयी है।


पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण का प्रचार अभियान मंगलवार को समाप्त हो गया। पूर्वी मेदनीपुर और कूच बिहार जिलों के 25 निर्वाचन क्षेत्रों में आगामी पांच मई को चुनाव होना है।


दीदी को अपनी प्रबल लोकप्रियता के बारे आत्मविशिलवास बना हुआ है और अंतिम चरण के मतदान से पहले वे घूम घूमकर दावा कर रही हैं कि उन्हें बहुमत मिल चुका है।


गौरतलब है कि  पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे 1961 उम्मीदवारों में से 244 करोड़पति हैं। करोड़पति उम्मीदवारों की सूची में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस 114 उम्मीदवारों के साथ शीर्ष स्थान पर है।बाहुबल के अलावा धनबल भी कम नहीं है,फिरभी दीदी आलआउट खेल क्यों रही है,यह पहेली है।


संघ परिवार ने उन्हें जिताने में कोई कसर भी नहीं छोड़ी है तो धर्मोन्मादी ध्रूवीकरण की वजह से समझा जाता है कि मुसलमानों ने दीदी के हक में ही वोट डाले हैं।


हालांकि संसद में भाजपा को खुल्ला मदद की तर्ज पर भाजपा के खिलाफ दीदी का जिहादी तेवर ममता राज को उखाड़ने की भाजपा नेताओ की तरह अब भी नूरा कुश्ती का जलवा बहार है।मसलन अंतिम चरण मतदान का चुनाव प्रचार समाप्त होने से कुछ घंटे पहले कूचबिहार के दिनहाटा में चुनावी सभा में ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा बंगाल को विभाजित करने की संकीर्ण राजनीति कर रही है भाजपा।


सिर्फ चुनावी समीकरण के बीजगणित से चुनाव नहीं जाते,यह सच भी है और पिछले पांच साल सोते रहने के बाद वाम कांग्रेस जनाधार में इधर बारी फेरबदल हुआ हो,ऐसा भी नहीं है।


शारदा फर्जीवाड़ा का लोकसभा नतीजों पर असर हुआ ही नहीं और विपक्ष का सूपड़ा साफ हो गया है तो नारद स्चिंग मामले में दीदी के इकबालिया बयान के बावजूद कितना असर होगा कहना मुश्किल है।इसलिए विपक्ष के दावों से दीदी को सरदर्द कतई नहीं होगा।


बहरहाल,दीदी के सरदर्द का सबक है अचानक उनके मातहत पुलिस महकमे की हुक्मउदुली और राज्य सरकार के कर्मचारियों का असंतोष।अमन चैन के तहत भारी मतदान भी उनके लिए बहुत गुस्से की वजह है तो भूत बिरादरी के खिलाफ उनका गुस्सा एकदम जायज है।अंतिम चरण के मतदान में चुनाव जीतने के बाद देक लेने की धमकी के साथ हिंसा का जो ट्रेलर जारी है,उसका कुल मकसद अंतिम चरण में बढ़ता हासिल करना है ताकि गुपचुप कोई धमाका अगर हुआ भी हो तोइसका असर कम किया जा सकें।

जादू की छड़ी की तरह दीदी के पुलिस को देख लेने की धमकी का असर भी हो रहा है


खास कोलकाता महानगर में पुलिस की मौजूदगी में मतादान के बाद से लगातार विभिन्न इलाकों में दहशतगर्दी का जो आलम है ,वह हैरतअंगेज है।राजनीकि हिंसा अक्सर महानगरों को स्पर्श नहीं करती ,यह मिथ टूट रहा है और दावानल वातानुकूलित लोगों को झुलसा देता है,इससे यही साबित होता है।आज रात ग्यारह बजे के आसपास कहीं कहीं आंधी पानी की वजह से तापमान और हवा में नमी घुचन में थोड़ी कमी की संभावना है लोकिन राजनीतिक हिंसा में कोई कमी के आसार फिलहाल नहीं है।अंतिम चरण के मतदान में फिर खुल्ला भूत नाच की तैयारी है।


दक्षिण कोलकाता के नये महानगरीय इलाके में  बाघा जतीन,यादवपुर,कस्बा,हरिदेव पुर,पेयाराबागान वगैहर वगैरह इलाकों में  दूध पीते बच्चे भी बख्शे नहीं गये और मुख्यमंत्री की धमकी के बाद पुलिस फिर वफादारी निभाने लगी है।मतदान के दौरान जो पुलिस सक्रियरही और पूरे राज्य में तारीफ बटोरती रही,खास कोलकाता में सर्वत्र उस पुलिस की मौजूदगी के मध्य मतदान के बाद से भूत बिरादरी का तांडव चल रहा है।पुलिस मूक दर्शक है।


बाघा जतीन में विपक्ष को वोट देने वालों,विपक्षी एजंटों और कार्यकर्ताओं के घरों दुकानों पर व्यापक तोड़फोड़ करते हुए धमकी दी गयी है कि यह तो फिलहाल ट्रेलर है,बाकी फिल्म ब19 मई के बाद।


बांग्ला टीवी चैनल एबीपी आनंद की खबर हैः

বাহিনী কব্জা করে ভোট লুঠে ওসি-দের নিয়ে গোপন বৈঠক, সূর্যর নিশানায় শুভেন্দু

বাহিনী কব্জা করে ভোট লুঠে ওসি-দের নিয়ে গোপন বৈঠক, সূর্যর নিশানায় শুভেন্দু

কলকাতা: শেষ দফা ভোটের আগে চাঞ্চল্যকর অভিযোগ করলেন সূর্যকান্ত মিশ্র। নাম না করলেও তাঁর নিশানায় নন্দীগ্রামের তৃণমূল প্রার্থী শুভেন্দু অধিকারী। সূর্যকান্তর অভিযোগ, পয়লা মে রাতে, পাঁচ থানার ওসিদের নিয়ে গোপন বৈঠক করেছেন শুভেন্দু অধিকারীর। কমিশনে লিখিত অভিযোগ দায়ের করেছে সিপিএম। হার নিশ্চিত জেনে অসত্য অভিযোগ করছে। পাল্টা দাবি তৃণমূলের।


সূর্যকান্তর অভিযোগ গভীর রাতে পাঁশকুড়া বনমালী কলেজে এই বৈঠক হয়। সেখানে অর্থ লেনদেন সহ ভোটে নিযুক্ত কেন্দ্রীয় বাহিনীর জন্য 'গুড়ের জলের' যোগান দেওয়ার ব্যবস্থা সহ বিভিন্ন বিষয়ে আলোচনা হয়। নাম না করলেও সূর্য বুঝিয়ে দিয়েছেন ওই বৈঠক করেন শুভেন্দু অধিকারী। সূর্যকান্ত বলেছেন, তৃণমূলের পূর্ব মেদিনীপুরের দায়িত্বপ্রাপ্ত সাংসদ, যিনি ভোটেও লড়াই করছেন, তিনি এই বৈঠক করেন।


এই মর্মে জাতীয় নির্বাচন কমিশনে লিখিত অভিযোগও দায়ের করেছে সিপিএম। সেখানে দাবি করা হয়েছে, পয়লা মে রাতে  পাঁশকুড়া বনমালী কলেজে, পাঁশকুড়া, ময়না, হলদিয়া, মারিশদা, রামনগরের ওসির সঙ্গে বৈঠক করেন শুভেন্দু অধিকারী। বৈঠকে ঠিক হয়েছে কেন্দ্রীয় বাহিনীকে মদ ও মাংস জোগাবেন ওই ওসিরা। টাকা দেবেন শুভেন্দু অধিকারী। বামেদের আশঙ্কা, ওই সব থানার ওসিদের সরানো না হলে, অবাধে ভোট সম্ভব নয়।

বামেদের অভিযোগের প্রেক্ষিতে শুভেন্দু অধিকারীর বক্তব্য, তিনি কোনও প্রতিক্রিয়া দেবেন না। সূর্যকান্ত মিশ্রর মাথার ডাক্তার দেখানো উচিত।

এ দিন মমতা বন্দ্যোপাধ্যায়ের দিকেও আঙুল তুলেছেন সূর্যকান্ত মিশ্র। কোচবিহারে মমতার বিরুদ্ধে কারসাজির অভিযোগ এনেছেন সূর্য।

পাল্টা জবাব দিয়েছে তৃণমূল। তৃণমূল কংগ্রেসের মহাসচিব পার্থ চট্টোপাধ্যায় বলেছেন, হারবে বুঝে কুত্সা ছড়ানোর চেষ্টা হচ্ছে।

কোচবিহার এবং পূর্ব মেদিনীপুরে বৃহস্পতিবার ভোট। তার আগে, সূর্যকান্ত মিশ্রের এদিনের বিস্ফোরক অভিযোগ নয়া বিতর্ক উস্কে দিল বলেই মত পর্যবেক্ষকদের একাংশের।



--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!