Sustain Humanity


Thursday, May 5, 2016

नंदीग्राम और कांथी में विपक्ष का एजंट कहीं नहीं! বাহিনী,পুলিশ-ভোটকর্মীকে 'শাসানি', রবীন্দ্রনাথ-উদয়নের বিরুদ্ধে এফআইআর मेदिनीपुर शुभेंदु अधिकारी के हवाले और कूचबिहार में दीदी ने कमान संभाली,बाकी सिपाहसालार हाशिये पर! शुभेंदु ने किया खुल्ला ऐलान ,केंद्रीय वाहिनी ने रणनीति बदली तो हमने भी बदल दी रणनीति! बंगाल में चुनाव तो निबट गया,अब अमन चैन की बहाली कैसे होगी? एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास हस्तक्षेप


नंदीग्राम और कांथी में विपक्ष का एजंट कहीं नहीं!

বাহিনী,পুলিশ-ভোটকর্মীকে 'শাসানি', রবীন্দ্রনাথ-উদয়নের বিরুদ্ধে এফআইআর

मेदिनीपुर शुभेंदु अधिकारी के हवाले और कूचबिहार में दीदी ने कमान संभाली,बाकी सिपाहसालार हाशिये पर!

शुभेंदु ने किया खुल्ला ऐलान ,केंद्रीय वाहिनी ने रणनीति बदली तो हमने भी बदल दी रणनीति!

बंगाल में चुनाव तो निबट गया,अब अमन चैन की बहाली कैसे होगी?

एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास

हस्तक्षेप

पांच साल में किसी उम्मीदवार की संपत्ति में अगर हजार गुणा तो इजाफा हुआ है तो लोकतंत्र की परिभाषा क्या हो सकती है,समझ लीजिये। बेलगाम हिंसा का सबब यही है।सिंडकेट राज में बंगाल में लोकतंत्र की तस्वीर यही है।


बंगाल में चुनाव तो निबट गया,अब अमन चैन की बहाली कैसे होगी.जनादेश से बनने वाली सरकार के लिए यही सबसे बड़ी चुनौती होगी।पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के छठे और आखिरी चरण में 84.24 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने मतदान किया। पूर्वी मेदिनीपुर जिले में 75.19 प्रतिशत और कूचबिहार में 72.31 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। दोपहर तीन बजे तक कुल मतदान का प्रतिशत 74.15 था। आजादी के बाद यह पहला मौका है, जब कूच बिहार जिले में सीमावर्ती बस्तियों के 9,776 निवासियों को अपने मताधिकार का उपयोग करने का अवसर मिला है। ऐसा पिछले साल इन बस्तियों के भारतीय क्षेत्र में औपचारिक विलय के बाद संभव हुआ। अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने वालों में 103 साल के असगर अली भी शामिल हैं।


शुभेंदु अधिकारी की जादू की छड़ी का करिस्मा यह रहा कि नंदीग्राम और कांथी में कहीं विपक्ष का पोलिंग एजंट नजर नहीं आया।


नंदीग्राम में वैसे वामदलों या कांग्रेस का कोई उम्मीदवार नहीं है,वहां गठबंधन की ओर से निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में हैं और शुभेंदु के मुताबिक नंदीग्राम में माकपा विरोधी हवा अब भी सुनामी है और उन्हें कोई एजंट मिला ही नहीं है तो वे कुछ नहीं कर सकते।


बंगाल में अंतिम चरण के मतदान में भूतों का नाच केंद्रीय वाहिनी,सक्रिय पुलिस औरचुनाव आयोग की सख्ती के बाद जितना और जहां संभव हुआ,खूब हुआ।दो दो उम्मीदवारों के खिलाफ एफआईआर हुए।


हमलों और संघर्ष,धमकियों और दहशतगर्दी का सिलसिला बदस्तूर जारी रहा और बाकी बंगाल में चुनावी हिंसा का दौर अभी थमा नहीं है।इसके बावजूद सबसे खास बात है कि दीदी  मेदिनीपुर में वोट कराने का एकाधिकार सांसद शुभेंदु अधिकारी के हवाले करके खुद उत्तर बंगाल के कूच बिहार में तंबू डालकर बैठ गयीं।


सत्तादल के  अंदर महल का यह खुल्लमखुल्ला खुलासा है कि दीदी ने इस चुनाव में अनुब्रत के अलावा शुभेंदु पर ही भरोसा किया है और बाकी सिपाहसालारों को हाशिये पर छोड़ दिया है।


दूसरी ओर मतदान लाइव में शुभेंदु अधिकारी का ही जलवाबहार रहा फ्रेम दर फ्रेम।


सूर्यकांत मिश्र ने पुलस अफसरों के साथ उनकी बैठक का जो सनसनीखेज आरोप लगाया,उसे चुनाव आयोग ने खारिज कर दी तो भाजपा ने भी शुभेंदु और वफादार पुलिस अफसरान के मोबाइल लोकेशन की निगरानी की मांग चुनाव आयोग से कर दी,जिसे आयोग ने खारिज नहीं किया और इसके साथ विपक्ष जिन आला पुलिस अफसरान पर सत्तादल का वोट मैनेज करने का आरोप लगाता रहा है,वे सभी चुनाव आयोग की निगरानी में रहे और उन्हें भी नजरबंद रखा।


पूर्वी मेदिनीपुर जिले में 7500 जवान तैनात किए गए हैं। केंद्रीय बलों की शेष जो लगभग 310 कंपनियां शुरुआती चरणों के लिए पश्चिम बंगाल में तैनात थीं, उन्हें तमिलनाडु और केरल में भेजा गया है। इन दोनों राज्यों में चुनाव होने हैं। 


अधिकारियों ने कहा कि चूंकि अंतिम चरण के तहत चुनावी प्रक्रिया में शामिल हो रहे ये दोनों जिले असम और ओडिशा की सीमा से लगते हैं, इसलिए चुनावी पैनल ने उन राज्यों के प्रमुख सचिवों को पत्र लिखकर सीमावर्ती इलाकों में नाका बिंदू बनाने के लिए कहा है।

ABP Anand reports:


বাহিনী,পুলিশ-ভোটকর্মীকে 'শাসানি', রবীন্দ্রনাথ-উদয়নের বিরুদ্ধে এফআইআর



বাহিনী,পুলিশ-ভোটকর্মীকে 'শাসানি', রবীন্দ্রনাথ-উদয়নের বিরুদ্ধে এফআইআর

কোচবিহার: শেষ দফার ভোটেও কেন্দ্রীয় বাহিনীকে শাসকের চোখরাঙানি!উত্তরবঙ্গে জওয়ানদের শাসালেন নাটাবাড়ির তৃণমূল প্রার্থী রবীন্দ্রনাথ ঘোষ। দিনহাটার তৃণমূল প্রার্থী উদয়ন

দিনভর 'নিয়মভঙ্গ', মেজাজ হারিয়ে দলীয় কর্মীকে সপাটে চড় তৃণমূল প্রার্থী রবীন্দ্রনাথ ঘোষের

দিনভর 'নিয়মভঙ্গ', মেজাজ হারিয়ে দলীয় কর্মীকে সপাটে চড় তৃণমূল প্রার্থী রবীন্দ্রনাথ ঘোষের

কোচবিহার: কখনও কেন্দ্রীয় বাহিনীর জওয়ানকে হুমকি!কখনও দলীয় কর্মীকে চড়! কখনও দলের...

উত্তপ্ত শেষ দফা: কেন্দ্রীয় বাহিনীর সঙ্গে তর্কাতর্কি শুভেন্দুর, বিরোধী এজেন্টদের হুমকি

উত্তপ্ত শেষ দফা: কেন্দ্রীয় বাহিনীর সঙ্গে তর্কাতর্কি শুভেন্দুর, বিরোধী এজেন্টদের হুমকি

পূর্ব মেদিনীপুর: ভোট রঙ্গের শেষ দফাতেও উত্তপ্ত পূর্ব মেদিনীপুর। চলছে শাসক দলের হুমকি,...


ভারতের ভুল মানচিত্র ছাপলে সাত বছর পর্যন্ত জেল, ১ কোটি থেকে ১০০ কোটি টাকা জরিমানা!

ভারতের ভুল মানচিত্র ছাপলে সাত বছর পর্যন্ত জেল, ১ কোটি থেকে ১০০ কোটি টাকা জরিমানা!

নয়াদিল্লি: সোস্যাল নেটওয়ার্কিং সাইটগুলিতে মাঝেমধ্যেই জম্মু ও কাশ্মীর, অরুণাচল...



24 Ghanta Reports:

শেষ দফার ভোট নির্বিঘ্নেই, অ্যাকটিভ বাহিনী, পুলিসের দাদাগিরি, হলদিয়ায় হুমকি, উদয়ন গুহর বিরুদ্ধে FIR  

শেষ দফার ভোট নির্বিঘ্নেই, অ্যাকটিভ বাহিনী, পুলিসের দাদাগিরি, হলদিয়ায় হুমকি, উদয়ন গুহর বিরুদ্ধে FIR

নির্বিঘ্নেই মিটে গেল শেষ দফার ভোট। আগের দফা গুলির মতো এবারও অ্যাকটিভ বাহিনী। বিচ্ছিন্ন কিছু ঘটনার ঘটলেও ভোটের শেষে চওড়া হাসি কমিশনের। বিতর্কে জড়িয়ে দিনভর খবরে থাকলেন তৃণমূলের রবীন্দ্রনাথ ঘোষ আর উদয়ন গুহ। দুজনের বিরুদ্ধেই দায়ের হয়েছে FIR।শেষ দফার ভোটেও অ্যাকটিভ কমিশন। উত্তরে কোচবিহারের শীতলকুচি হোক বা দক্ষিণ পূর্ব মেদিনীপুরের পাঁশকুড়া। সক্রিয় নিরাপত্তা বাহিনী।


ভোট-পরবর্তী সন্ত্রাসের জের, বহরমপুরে গুলিবিদ্ধ তৃণমূলের জেলা সম্পাদক

ভোট-পরবর্তী সন্ত্রাসের জের, বহরমপুরে গুলিবিদ্ধ তৃণমূলের জেলা সম্পাদক

বহরমপুর: বহরমপুরে গুলিবিদ্ধ তৃণমূল নেতা। পুলিশ সূত্রে খবর, আজ সকালে শহিদাবাদে নিজের...

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!