Sustain Humanity


Tuesday, May 10, 2016

"नौ लोगों के इस परिवार के लिए सरकार ने 35 किलो गेहूं तय किया है. यदि इसे 30 दिन और दो वक़्त के हिसाब से तोड़ कर देखें तो एक समय में एक आदमी के हिस्से में लगभग 65 ग्राम अनाज आता है. मंगूसपुरवा से 40 किलोमीटर दूर बांदा में बने जिला कारागार में एक दोषसिद्ध कैदी के लिए निर्धारित खुराक में प्रतिदिन 700 ग्राम आटा, 90 ग्राम दाल, और 230 ग्राम सब्जी शामिल है. "

"नौ लोगों के इस परिवार के लिए सरकार ने 35 किलो गेहूं तय किया है. यदि इसे 30 दिन और दो वक़्त के हिसाब से तोड़ कर देखें तो एक समय में एक आदमी के हिस्से में लगभग 65 ग्राम अनाज आता है. मंगूसपुरवा से 40 किलोमीटर दूर बांदा में बने जिला कारागार में एक दोषसिद्ध कैदी के लिए निर्धारित खुराक में प्रतिदिन 700 ग्राम आटा, 90 ग्राम दाल, और 230 ग्राम सब्जी शामिल है. "

SATYAGRAH.com
22 hrs · 

35 किलो गेहूं को 30 दिन और दो वक़्त के हिसाब से तोड़ कर देखें तो एक औसत परिवार के एक सदस्य के हिस्से 100 ग्राम आटा भी मुश्किल से आाएगा. उधर, बांदा जेल में एक कैदी के लिए तय खुराक में रोज 700 ग्राम आटा, 90 ग्राम दाल, और 230 ग्राम सब्जी शामिल है.

बुंदेलखंड में हुई दो हालिया मौतों के पीछे की कहानी बताती है कि अकाल से जूझ रहे इस इलाके को उबारने के लिए असल में जो होना चाहिए उसे छोड़कर सब हो रहा है
SATYAGRAH.SCROLL.IN|BY विनय सुल्तान

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!